विश्व के प्रसिद्ध तानाशाह – The World’s Most Famous Dictators in Hindi


इस धरती पर बहुत सारे शासक हुए है कुछ अच्छे और कुछ बहुत क्रुर | क्रुर शासक या क्रुर तानाशाह का बात करे तो हिटलर का नाम सबसे पहले हमारी जुबान पर आता है | आज के इस लेख में हम विश्व के प्रसिद्ध तानाशाह के बारेमें  पढेंगे, तो चलिए विस्तार से पढ़ते हैं The World’s Most Famous Dictators in Hindi दुनिया में सबसे प्रसिद्ध तानाशाह कौन हैं?

प्रसिद्ध तानाशाहों की सूची – List of Famous Dictators

  • बेनिटो मुसोलिनी
  • एडोल्फ हिटलर
  • जोसेफ स्टालिन
  • ईदी अमीन
  • पोलपोट
  • रॉबर्ट मुगाबे
  • सद्दाम हुसैन
  • मुअम्मर अल-गद्दाफी
  • अली अब्दुल्लाह सालेह
  • किम जोंग उन

तानाशाह किसे कहते है?

ऐसे शासन व्यवस्था जिसमे शासन एक हाथ में केन्द्रित हो तथा शासक निरंकुश रूप से शासन करे | तानाशाह किसी दल का नेता, सैनिक, अधिकारी या शक्ति सम्पन्न व्यक्ति होता है | जो अपनी योग्यता व क्षमता के बल पर निर्वचन या सत्ता पर कब्ज़ा करके शासक बन जाता है |

विश्व के प्रसिद्ध तानाशाह – The World’s Most Famous Dictators

नीचे विश्व के कुछ प्रसिद्ध तानाशाहों की लिस्ट और उनके बारे में कुछ जानकारी दी गई है | जिससे आप तानाशाह के बारे में जान सकते है | List and about famous dictators of the world.

बेनिटो मुसोलिनी (1883 – 1945) – Benito Mussolini

बेनिटो मुसोलूनी इटली का तानाशाह था। इसका जन्म 29 जुलाई, 1883 को इटली के प्रिदाप्यो गाँव में हुआ। इसने इटली में ‘फासिस्ट पार्टी‘ का गठन किया। वह फासीवाद के दर्शन की नींव रखने वाला प्रमुख व्यक्ति था। मुसोलिनी ने वर्ष 1935 में अबीसीनिया पर आक्रमण कर द्वितीय विश्व युद्ध की पृष्ठभूमि तैयार की। 25 जुलाई, 1943 को मुसोलिनी को प्रधानमन्त्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा। 28 अप्रैल, 1945 को उसे मृत्युदण्ड दे दिया गया।

एडोल्फ हिटलर (1889-1945) – Adolf Hitler

एडोल्फ हिटलर का जन्म 20 अप्रैल, 1889 को ऑस्ट्रिया में हुआ। हिटलर राष्ट्रीय समाजवादी जर्मन कामगार पार्टी (एनएसडीएपी) का नेता था और कई वर्ष तक जर्मनी का तानाशाह शासक बना रहा। हिटलर को द्वितीय विश्व युद्ध के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार माना जाता है। वर्ष 1923 में उसने ‘मीन कैम्फ‘ (मेरा संघर्ष) नामक पुस्तक लिखी। वह ‘आर्य‘ जाति को श्रेष्ठ मानता था तथा यहूदियों से घृणा करता था। उसने अपने शासन काल में लगभग 60 लाख यहूदियों को मौत के घाट उतार दिया था। उसकी मृत्यु वर्ष 1945 में हुई।

जोसेफ स्टालिन (1878-1953) – Joseph Stalin

स्टालिन स्टालिन रूसी तानाशाह शासक था। इसका जन्म 18 दिसम्बर, 1878 को गोरी (रूस) में हुआ। 19 वर्ष की आयु में वह मार्क्स के सिद्धान्तों पर आधारित एक गुप्त संस्था का सदस्य बना। वर्ष 1922 में सोवियत समाजवादी गणराज्यों का एक संघ बनाया गया और स्टालिन को केन्द्रीय समिति में शामिल किया गया। वर्ष 1928 में उसने प्रथम पंचवर्षीय योजना की घोषणा की। वर्ष 1945 में स्टालिन ने अपने आप को ‘जेनरलिसियो‘ घोषित किया। इसी के शासनकाल में वर्ष 1947 में रूस और अमेरिका के बीच शीतयुद्ध की शुरुआत हुई। वर्ष 1953 में स्टालिन की मृत्यु हो गई।

ईदी अमीन (1925-2003) – Idi Amin

ईदी अमीन युगाण्डा का तानाशाह शासक था। इसका जन्म वर्ष 1925 में हुआ। वर्ष 1971 में उसने युगाण्डा की सत्ता प्राप्त की। ईदी अमीन ने खुद को ‘हिज एक्सीलेन्सी‘ और ‘प्रेजीडेण्ट फॉर लाइफ‘ घोषित किया था। वर्ष 1976 में अमीन ने स्वयं को ‘किंग ऑफ स्कॉट‘ घोषित कर ‘स्कॉटलैण्ड का राजा‘ बताया। ईदी अमीन ने लगभग 50 हजार लोगों को मौत के घाट उतारा था। उसकी मृत्यु वर्ष 2003 में सऊदी अरब में हुई।

पोलपोट (1925-1998) – Pol Pot

पोलपोट कम्बोडिया का तानाशाह था। इसका जन्म 19 मई, 1925 को प्रेक सर्वोोब, (कम्बोडिया) में हुआ। उसने वर्ष 1975 में कम्बोडिया की सत्ता सँभाली। वह वर्ष 1976 में नई साम्यवादी सरकार में प्रधानमन्त्री बना। उसने अपनी सेना तैयार की, जिसका नाम ‘खमेर रूज‘ था। उसने माओवादी कृषक सोसायटी बनाने के लिए निजी सम्पत्ति, मुद्रा और कई शहरों को खत्म कर दिया। वर्ष 1979 में वियतनाम के कम्बोडिया में मिल जाने पर पोलपोट को सत्ता से बाहर कर दिया गया। उसने अपने शासन काल में लगभग बीस हजार लोगों को मौत के घाट उतारा था। उसकी मृत्यु वर्ष 1998 में हुई।

रॉबर्ट मुगाबे (1924-2019) – Robert Mugabe

रॉबर्ट मुगाबे जिम्बाब्वे का तानाशाह शासक है। इसका जन्म 21 फरवरी, 1924 को हुआ। रॉबर्ट मुगावे वर्ष 1980 से जिम्बाब्वे का प्रतिनिधित्व कर रहा है। उसने वर्ष 1980-87 तक प्रधानमन्त्री का पद सँभाला और वर्ष 1987 में प्रधानमन्त्री का पद समाप्त कर राष्ट्रपति वन गया। इसने अफ्रीकन यूनियन पार्टी की स्थापना की तथा वर्ष 1964-1979 तक छापामार युद्ध छेड़ा। मुगाबे को प्रभावशाली वक्ता, विवादों में घिरा रहने वाला एवं लोगों को ध्रुवीकृत करने में माहिर राजनीतिज्ञ माना जाता है। 6 सितम्बर 2019 में रॉबर्ट मुगाबे की मृत्यु हो गई।

सद्दाम हुसैन (1937-2006) – Saddam Hussein

सद्दाम हुसैन, इराक का तानाशाह शासक था। इसका जन्म 28 अप्रैल, 1937 को बगदाद में हुआ। यह वर्ष 1979 से 2003 तक इराक का राष्ट्रपति रहा। वर्ष 1956 में वह बाथ सोशलिस्ट पार्टी का सदस्य बना। बाथ पार्टी अरब जगत में साम्यवादी विचारों की वाहक थी। वर्ष 1982 में सद्दाम हुसैन ने अपने ऊपर हुए एक आत्मघाती हमले के बाद दुजैल गाँव के 148 लोगों की हत्या करवा दी थी। वर्ष 2003 में अमेरिका ने अपने मित्र राष्ट्रों के साथ इराक पर हमला कर दिया। 13 दिसम्बर, 2003 को सद्दाम हुसैन को तिकरित के एक घर में गिरफ्तार किया गया। 30 दिसम्बर, 2006 को उसे मृत्युदण्ड दिया गया।

मुअम्मर अल-गद्दाफी (1942-2011) – Muammar Al-Qaddafi

मुअम्मर अल-गद्दाफी लीबिया का तानाशाह शासक था। इसका जन्म 7 जून, 1942 को हुआ। इसे कर्नल गद्दाफी के नाम से भी जाना जाता है। इसने लीबिया पर 42 वर्ष तक शासन किया। यह अरब देशों में सबसे अधिक समय तक राज करने वाला तानाशाह था। वर्ष 2011 में अरब क्रान्ति के दौरान गद्दाफी की सत्ता चली गई। 20 अक्टूबर, 2011 को एक सैन्य हमले में इसकी मृत्यु हुई।

अली अब्दुल्लाह सालेह (1942-2017) – Ali Abdullah Saleh

अली अब्दुल्लाह सालेह का जन्म 21 मार्च 1942 में साना, (यमन) में हुआ। यमन के विभाजन से पूर्व वह वर्ष 1977 में उत्तर यमन की सेना में लेफ्टिनेण्ट रहा राष्ट्रपति अल-धासमी की हत्या के बाद वर्ष 1982 में वह जनरल पीपुल्स कांग्रेस पार्टी का सचिव बन गया। वह वर्ष 1983 में उत्तर यमन का राष्ट्रपति बना। वह वर्ष 2012 तक उत्तर यमन का राष्ट्रपति रहा। इसने लगभग 20 हजार लोगों को मौत के घाट उतार दिया है | 4 दिसंबर 2017 में अली अब्दुल्लाह सालेह की मृत्यु हो गई।

किम जोंग उन (1983) – Kim Jong-Un

किम जोंग उन उत्तर कोरिया का तानाशाह है। इसका जन्म 8 जनवरी, 1983 को हुआ। यह उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग इल (1941-2011) का पुत्र है। किम अपने पिता की मृत्यु के बाद वर्ष 2011 में उत्तर कोरिया का तानाशाह शासक बना। हाल ही में उसने हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर दुनिया को चौंका दिया था। 12 मई, 2015 को किम जोंग-इन ने उत्तर कोरिया के तत्कालीन रक्षा मन्त्री हयांग योंग-चोल को एण्टी एयर क्राफ्ट गन से उड़ाने का आदेश दिया, क्योंकि वह किम जोंग-इन की उपस्थिति में ऊँघ रहा था। इससे पूर्व वर्ष 2013 में उसने अपने एक रिश्तेदार (फूफा) तथा तत्कालीन सैन्य अध्यक्ष जोंग सोंग-थीक को 100 भूखे कुत्तों के सामने डाल कर मरवा दिया था। उसे थीक के सत्ता पलटने की साजिश में शामिल होने का शक था।

अगर आपको इस पोस्ट पसंद आई हो तो आप कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे दिए गए Comment Box में जरुर लिखे ।


Leave a Comment