शृंगार रस की परिभाषा उदाहरण सहित -Sringara Ras in Hindi

शृंगार रस (Sringara Ras) :- जहाँ काव्य में रति नामक स्थायी भाव, विभाव,अनुभाव और संचारी भाव से पुष्ट होकर रस में परिणत होता है वहाँ श्रृंगार रस होता है | शृंगार रस की परिभाषा नायक और नायिका के मन में संस्कार रूप … Read More