गीतांजलि श्री का जीवन परिचय | Geetanjali Shree Biography In Hindi


गीतांजलि श्री (12 जून 1957) एक कथाकार और उपन्यासकार हैं। गीतांजलि श्री की पहली कहानी बेलपत्र 1987 में हंस में प्रकाशित हुई थी | इसके बाद उनकी दो और कहानियाँ एक के बाद एक हंस में छपीं |

Geetanjali Shree Biography In Hindi
गीतांजलि श्री का जीवन परिचय – Geetanjali Shree Biography In Hindi

गीतांजलि श्री का  इतिहास व जीवन परिचय – Geetanjali Shree Biography In Hindi

बिंदु(Points)जानकारी (Information)
नाम (Name)गीतांजलि श्री
जन्म (Date of Birth)12 जून 1957
जन्म स्थान (Birth Place)मैनपुरी, उत्तर प्रदेश
पिता का नाम (Father Name)मधुसूदन तिवारी
माता का नाम (Mother Name)लीलावती तिवारी
पुरस्कार (Award)2022: अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार
व्यवसायकथाकार और उपन्यासकार
कर्म क्षेत्रकथा साहित्य
भाषा (Language)हिंदी, अंग्रेजी
राष्ट्रीयताभारतीय

अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022 इनके उपन्यास ‘रेत समाधि’ (टोम्ब ऑफ़ सैंड) केर लिए दिया गया है | और इसका अंग्रेजी में अनुवाद प्रसिध्द अनुवादक डेज़ी रॉकवाल ने किया है |

जन्म – स्थान

गीतांजलि श्री का जन्म 12 जून 1957 में  उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिला  में हुआ था ।

माता-पिता

गीतांजलि श्री के पिता का नाम मधुसूदन तिवारी था। इनकी माता का नाम लीलावती तिवारी था

उपन्यास

  • माई
  • हमारा शहर उस बरस
  • तिरोहित
  • खाली जगह
  • रेत की समाधि

पुरस्कार

  • अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार (2022) – जीतने वाली प्रथम भारतीय महिला

इसे भी पढ़े :

गीतांजलि श्री का जीवन परिचय | Geetanjali Shree Biography In Hindi – अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आप कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे दिए गए Comment Box में जरुर लिखे ।


Leave a Comment