यमक अलंकार – परिभाषा, अर्थ, लक्षण एवं उदाहरण


इस आर्टिकल में हम यमक अलंकार – Yamak Alankar in Hindi पढेंगे, तो चलिए विस्तार से पढ़ते हैं यमक अलंकार – परिभाषा, अर्थ, लक्षण एवं उदाहरण

इसे भी पढ़ें –

यमक अलंकार की परिभाषा—

जहाँ एक शब्द अथवा शब्द समूह का एक से अधिक बार प्रयोग हो, किन्तु उसका अर्थ प्रत्येक बार भिन्न हो, तो वहाँ यमक अलंकार होता है।

यमक अलंकार का अर्थ—

यमक का अर्थ होता है— युग्म या जोड़ा ।

अथवा

शब्द या शब्द समूह ।

यमक अलंकार के लक्षण अथवा पहचान—

शब्दों की आवृत्ति (जहाँ एक शब्द एक से अधिक बार प्रयुक्त हो और उसके अर्थ अलग-अलग हों) ही यमक अलंकार के लक्षण हैं।

यमक अलंकार के उदाहरण—

ऊँचे घोर मंदर के अंदर रहनवारी ।
ऊँचे घोर मंदर के अंदर रहाती है।।

स्पष्टीकरण— उपर्युक्त उदाहरण में ऊँचे घोर मंदर के दो भिन्न अर्थ हैं— 1. महल तथा 2. पर्वत-कन्दराएँ; अत: यहाँ यमक अलंकार है।

कनक-कनक ते सौ गुनी, मादकता अधिकाय।
वा खाए बौराय जग, या पाये बौराय।।

स्पष्टीकरण— उपर्युक्त उदाहरण में कनक शब्द की एक बार आवृत्ति हुई है। किन्तु अर्थ भिन्न-भिन्न है—

  1. सोना
  2. धतूरा

2 thoughts on “यमक अलंकार – परिभाषा, अर्थ, लक्षण एवं उदाहरण”

Leave a Comment